PM कुसुम योजना के तहत 70 प्रतिशत सब्सिडी पर सोलर पम्प लगाने के लिए जल्दी से करे आवेदन

PM कुसुम योजना के तहत 70 प्रतिशत सब्सिडी पर सोलर पम्प लगाने के लिए जल्दी से करे आवेदन | PM Kusum Yojana


PM Kusum Yojana – नमस्कार प्यारे किसान भाई, जबकि पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से लड़ रही है, भारत में इसे हराने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। इस बीच, केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ‘प्रधान मंत्री किसान उजा सुरक्षा देश उत्थान महा अभियान’ (प्रधानमंत्री किसान सुरक्षा अभियान उत्तम महाभियान) यानी पीएम-कुसुम योजना का काम भी ज़ोर-शोर से चल रहा है। इसके माध्यम से किसानों को लाभान्वित करने के लिए अभी भी पंजीकरण प्रक्रिया जारी है। किसान अभी भी कुसुम योजना के तहत सौर पंप योजना का लाभ उठा सकते हैं।
PM Kusum Yojana
PM Kusum Yojana
गौरतलब है कि किसानों को खेती की लागत कम करने के लिए सोलर पंप उपलब्ध कराए जाएंगे। 5 एचपी क्षमता के ये पंप किसानों को प्रधानमंत्री कुसुम योजना के माध्यम से सब्सिडी पर उपलब्ध होंगे। पहले चरण में यहां कुल 15 सोलर पंप दिए जाने हैं।


PM Kusum Yojana का उद्देश्य क्या है ?

जिन क्षेत्रों में सिंचाई की आवश्यकता अधिक है, वहां किसानों को डीजल और बिजली पर अतिरिक्त खर्च करना पड़ता है। इससे उत्पादन की लागत बढ़ जाती है। फसल की लागत कम करने के लिए केंद्र सरकार ने पीएम कुसुम योजना की शुरुआत की। इसके तहत किसानों को सोलर पंप दिए जाएंगे। किसान अपनी जमीन पर सौर ऊर्जा आधारित सौर पंप स्थापित कर सकेंगे। किसान ग्रिड में अधिशेष बिजली बेचकर भी कमा सकते हैं। ये पंप बिना डीजल और बिजली के खेतों की सिंचाई कर सकेंगे।

सोलर पम्प पर कितना सब्सिडी मिल रहा है ?

इसकी बाजार में कीमत लगभग तीन लाख रुपये है। केंद्र सरकार और राज्य सरकार संयुक्त रूप से 2 लाख अनुदान प्रदान करेगी, जबकि किसानों को 94764 रुपये का योगदान करना होगा। योजना में पंजीकृत होने के लिए, उन्हें पहले बैंक ड्राफ्ट जमा करना होगा। कृषि अधिकारियों के अनुसार, झांसी के लिए 15 सोलर पंप उपलब्ध कराए जाने हैं। इसके लिए किसानों को पंजीकृत किया गया है, लेकिन अभी तक किसानों को पंप नहीं मिल पाए हैं।

पीएम-कुसुम योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करें

किसानों को सोलर पंप के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। जिसमें उसे अपनी जमीन के साथ-साथ सिंचाई के साधनों की भी जानकारी देनी होगी। अगर किसान सब्सिडी पर सोलर पंप लेते हैं तो उन्हें सिंचाई के लिए बिजली की सब्सिडी नहीं मिल पाएगी। यदि किसान ने सब्सिडी ले ली है, तो उसे इसे वापस करना होगा या अपना बिजली कनेक्शन काटना होगा। सोलर पंप का लाभ उठाने वाले किसानों की आधार संख्या और भूमि की जानकारी अक्षय ऊर्जा विभाग और बिजली कंपनी द्वारा साझा की जाएगी ताकि कोई भी किसान दोनों योजनाओं का लाभ नहीं उठा सके।

सोलर पंप पर सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें ?

आपको बता दें कि ऑनलाइन मोड के तहत, किसान उत्तर प्रदेश राज्य सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सीधे आवेदन कर सकते हैं किसानों को https://upnedasolarrooftopportal.com/लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

Leave a Comment