हरी सब्जी की खेती पर मिल रही है सब्सिडी, जाने किस क्षेत्र के किसानो को मिलेगा लाभ

हरी सब्जी की खेती पर मिल रही है सब्सिडी, जाने किस क्षेत्र के किसानो को मिलेगा लाभ | Subsidy on commercial farming


Subsidy on commercial farming – नमस्कार प्यारे किसान, उत्तर प्रदेश सरकार ने बागपत, मुजफ्फरनगर, बिजनौर सहित सभी गन्ना क्षेत्रों के लिए एक योजना चलाई है, जिसके तहत सरकार का बागवानी विभाग हरी सब्जियों की खेती पर 40 प्रतिशत अनुदान दे रहा है। इस क्षेत्र में गन्ने की फसल अधिक उगाई जाती है, जिसमें किसानों को अधिक मेहनत करनी पड़ती है और इसकी खेती भी अधिक लागत पर होती है। गौरतलब है कि गन्ने का भुगतान नहीं होने से किसानों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। सरकार सब्जी की खेती पर सब्सिडी देकर अन्य फसलों की ओर ध्यान आकर्षित करना चाहती है।
Subsidy on commercial farming
Subsidy on commercial farming
किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए, बागवानी विभाग वाणिज्यिक खेती पर जोर दे रहा है। चीनी मिल पर गन्ने का मूल्य समय पर नहीं मिलता है, जिससे किसान की आर्थिक स्थिति कमजोर हो रही है। इसलिए, बागवानी विभाग किसानों को धान और गेहूं के अलावा हरी और ताजी सब्जियों की खेती में संलग्न करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। इस योजना के तहत, बागवानी विभाग किसानों को शिमला मिर्च, टमाटर, गोभी, फूलगोभी, ककड़ी आदि की खेती के लिए 40 प्रतिशत अनुदान दे रहा है।

इस योजना से किसान को क्या लाभ मिलेगा ?


गन्ने का भुगतान न होने या देर से भुगतान करने के कारण यहां का किसान आर्थिक तंगी का सामना कर रहा है। किसानों द्वारा चीनी मील के माध्यम से गन्ने का भुगतान न करने की समस्या दिन पर दिन सामने आती रहती है। उस मामले में सब्जियां उगाना बेहतर विकल्प होगा। सब्जियां उगाना इसलिए भी फायदेमंद है क्योंकि इनकी बिक्री के तुरंत बाद नकदी उपलब्ध हो जाती है। ताजी सब्जियों की मांग निरंतर बनी हुई है, किसान लगातार इसे बेचकर अच्छी आय अर्जित कर सकते हैं। महंगाई के कारण आम आदमी भी परेशान है, इसीलिए सभी किसानों को सब्जियां उगाने के लिए प्रोत्साहित करने का काम किया जा रहा है। सरकार सब्जी की खेती पर अनुदान देने के साथ ही जागरूकता पैदा करने की कोशिश कर रही है। ऐसे में किसानों को अन्य फसलों पर भी ध्यान देना चाहिए।

श्रेणियों द्वारा निर्धारित लक्ष्य


सामान्य वर्ग और अनुसूचित वर्ग के किसानों द्वारा उगाई जाने वाली सब्जियों की संख्या भी सरकार के स्तर पर तय की गई है। सामान्य श्रेणी के किसानों को 22 हेक्टेयर टमाटर, 10 हेक्टेयर गोभी, 10 हेक्टेयर फूलगोभी और 4 हेक्टेयर मिर्च और शिमला मिर्च उगाने का लक्ष्य दिया गया है। दूसरी तरफ, शिमला मिर्च का लक्ष्य एक हेक्टेयर, टमाटर 18 हेक्टेयर, गोभी आठ और फूलगोभी पांच हेक्टेयर है।

योजना की अधिक जानकारीं के लिए सम्पर्क करे –


  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा 
  • इसके लिए आप आधिकारिक वेबसाइट http://uphorticulture.gov.in/ पर विजिट करे 
  • अधिक जानकारी के लिए 0522-4044414 इस नंबर पर कॉल करे 

Leave a Comment