हरित कृषि यंत्र योजना के तहत न्यूनतम किराए पर किसानो को मिलेगा कृषि यंत्र, जाने क्या फायदा है योजना का

हरित कृषि यंत्र योजना के तहत न्यूनतम किराए पर किसानो को मिलेगा कृषि यंत्र, जाने क्या फायदा है योजना का | Harit Kranti Yantar Yojana


Garit kranti yantar yojana – नमस्कार प्यारे किसान भाई, आज कृषि उपकरण के बिना खेती करना बहुत कठिन हो गया है। आज, कृषि मशीनरी के उपयोग से न केवल कृषि क्षेत्र का विकास होता है, बल्कि इससे किसानों की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होती है। कृषि में कृषि उपकरणों के उपयोग से जुताई, बुवाई, सिंचाई, कटाई, थ्रेशिंग और भंडारण आदि करना आसान हो जाता है, इसलिए केंद्र और राज्य सरकारें किसानों को सब्सिडी पर कृषि उपकरण उपलब्ध करा रही हैं।
harit kranti yantar yojana
harit kranti yantar yojana
इस योजना का लाभ उठाते हुए, सभी वर्गों के किसान सस्ती कीमतों पर कृषि औजार खरीद सकते हैं। इस संबंध में, बिहार सरकार द्वारा कुदरा ब्लॉक की प्राथमिक कृषि साख समितियों (PACS) को कृषि उपकरण उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इसके बाद, किसानों को न्यूनतम किराए पर कृषि उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। आइए हम आपको इस संबंध में पूरी जानकारी देते हैं।

क्या है हरित कृषि यंत्र योजना ? 


बिहार सरकार मुख्मंत्री हरित कृषि यंत्र योजना के तहत पैक्सों को कृषि यंत्र उपलब्ध करा रही है। इसके तहत कुदरा ब्लॉक के 10 पैक्सों को कृषि उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके बाद, कृषि उपकरणों को न्यूनतम किराए पर क्षेत्र के उन किसानों को उपलब्ध कराया जाएगा, जिनके पास कृषि उपकरण नहीं हैं। इस तरह छोटे और मध्यम किसानों को खेती में बहुत मदद मिलेगी।

हरित कृषि यंत्र योजना में कोनसे यंत्र शामिल है ? 


पैक्स को ट्रैक्टर, जीरो टिल मशीन, रोटावेटर आदि उपलब्ध कराए जाएंगे। बता दें कि पैक्सन ने राज्य सरकार के पास ऑनलाइन आवेदन किया था। इसके बाद, सरकार ने कृषि मशीनरी प्रदान करने के लिए ब्लॉक के 10 पैक्स का चयन किया है। इसके अलावा, कृषि मशीनरी के लिए जिन पैक्सों का चयन नहीं किया गया है, उनमें देवाराध कला, बेहरा, जहानाबाद, चिलबिली और मेउडा शामिल हैं। कहा जा रहा है कि अगले चरण में इन ब्लॉकों का चयन किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक चयनित पैक्स को 15 लाख रुपये दिए जाएंगे, जहाँ से वे कृषि यंत्र खरीदेंगे। बता दें कि लंबे समय तक पैक्सों को इस सुविधा की आवश्यकता थी ताकि यह किसानों को आधुनिक कृषि यंत्र उपलब्ध करा सके। लेकिन पैक्सन उन्हें खरीदने में सक्षम नहीं है, इसलिए सरकार की यह योजना कृषि मशीनरी की आपूर्ति करेगी। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर इस योजना का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो किसानों को बहुत लाभ मिलेगा और उत्पादन बढ़ेगा।

Leave a Comment