26 प्रकार के कृषि यंत्र पर मिल रहा है 80 प्रतिशत तक अनुदान, ऐसे योजना का लाभ ले | Government Schemes for Farmers In Hindi

26 प्रकार के कृषि यंत्र पर मिल रहा है 80 प्रतिशत तक अनुदान, ऐसे योजना का लाभ ले | Government Schemes for Farmers In Hindi


Government Schemes for Farmers In Hindi
Government Schemes for Farmers In Hindi
नमस्कार प्यारे किसान भाई, किसानो की आय में वृद्धि करने के राज्य सरकार और केंद्र सरकार किसानो के लिए अनेक योजनाय लेकर आती है। कृषि कार्य आसानी से करने के लिए आधुनिक कृषि यंत्रों का उपयोग करना बहुत महत्वपूर्ण है। इसीलिए बिहार सरकार किसानों को अनुदान पर कृषि उपकरण उपलब्ध करा रही है ताकि किसान आत्मनिर्भर बन सकें। कृषि विभाग किसानों को अनुदान पर कृषि उपकरण दे रहा है, वहीं यह उन्हें लघु उद्योगों के लिए भी प्रोत्साहित कर रहा है। तो आइए जानते हैं कि कृषि यंत्रों पर सब्सिडी कैसे प्राप्त करें?

वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करें (Apply online on the website)


कृषि विभाग 26 कृषि यंत्रों पर अनुदान दे रहा है। इसके लिए किसान कृषि विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जिन किसानों के आवेदन स्वीकृत किए जाएंगे, उन्हें कृषि विभाग द्वारा पंजीकृत दुकानों से सब्सिडी पर कृषि औजार खरीदने की अनुमति दी जाएगी। इसके लिए विभाग की वेबसाइट पर 30 नवंबर से पहले आवेदन करना होगा। बिहार के मधेपुरा जिले के कृषि अधिकारी राजन बालन ने कहा कि कृषि यंत्रों पर सब्सिडी पाने के लिए कोई भी व्यक्ति आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। यदि ऑनलाइन में किसी प्रकार की समस्या है, तो जिला कृषि विभाग के कार्यालय में आकर आवेदन किया जा सकता है। वहां जल्द ही उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा।

80 प्रतिशत तक की सब्सिडी कैसे मिलेगा (How to get up to 80 percent subsidy)


विभाग कृषि यंत्रों पर 50 से 80 प्रतिशत अनुदान दे रहा है। जिन उपकरणों पर सब्सिडी दी जा रही है, उनमें मैन-पॉवर पॉवर स्पेर्स शामिल हैं। किसानों को चावल की मिलों, दाल मिलों और तेल मिलों को स्थापित करने के लिए कृषि उपकरणों के अलावा अनुदान भी दिया जा रहा है। विभाग ईसीबी और एससीएसटी कोटा किसानों को 80 प्रतिशत अनुदान दे रहा है। दूसरी ओर, सामान्य श्रेणी से आने वाले किसानों को 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी मिलेगी। बालन ने बताया कि किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए विभाग इन योजनाओं को चला रहा है।

Leave a Comment