कृषि यंत्र की खरीद पर मिल रहा है 80 प्रतिशत अनुदान, खुद का फार्म मशीनरी बैंक बनाकर कमाए दोहरा लाभ |

कृषि यंत्र की खरीद पर मिल रहा है 80 प्रतिशत अनुदान, खुद का फार्म मशीनरी बैंक बनाकर कमाए दोहरा लाभ | Agricultural subsidy In Hindi 

Agricultural subsidy In Hindi  – नमस्कार प्यारे किसान भाई, सरकार समय-समय पर देश के किसानो की आय बढ़ाने के लिए विभिन्न योजनाओं को लागू करती है। ऐसे में उत्तराखंड के बागीश्वर जिले में भी एक योजना चलाई जा रही है। इस योजना को सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन (SMAM) कहा जाता है। इसके तहत किसान समूह बना सकते हैं और कृषि उपकरण खरीद सकते हैं। इस योजना के तहत कृषि उपकरणों की खरीद के लिए कृषि विभाग द्वारा 80% तक अनुदान दिया जाता है। वर्तमान में, योजना से लगभग 58 किसान समूह लाभान्वित हो रहे हैं। कृषि विभाग योजना में अधिक से अधिक किसानों को शामिल करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। इसके लिए, फार्म मशीनरी बैंक को दोहरे लाभ बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।
Agricultural subsidy In Hindi

                                    

योजना के तहत, 8 से 10 किसान एक समूह बनाते हैं, जिसे उन्हें सहकारी समिति के साथ पंजीकृत करना होता है। पंजीकृत समूह 1 मिलियन रुपये तक के कृषि उपकरणों की खरीद के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। इसके लिए आपको कृषि विभाग से संपर्क करना होगा। एक बार आवेदन स्वीकृत होने के बाद, पंजीकृत समूह दर्जी, पावर वीडर, थ्रेशर और अन्य कृषि उपकरणों सहित विद्युत उपकरण खरीद सकता है।

स्मैम योजना में ये कृषि उपकरण शामिल हैं

इस योजना के तहत किसानों को 10 पावर वीडर, 10 स्प्रेयर, 3 ब्रश कटर आदि प्रदान किए जाते हैं।

इस योजना से 600 किसान लाभान्वित हुए

कृषि विभाग का कहना है कि SAMAM योजना के तहत, जिले के लगभग 58 किसान समूहों ने कृषि उपकरण खरीदे हैं। इन समूहों में लगभग 600 किसान शामिल हैं। इनमें से 28 किसान समूह बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। बता दें कि कृषि औजार खरीदने के बाद, किसान समय-समय पर समूहों की पुष्टि करता है। इसके अलावा, उन्हें उपकरण रखरखाव के बारे में जानकारी प्रदान की जाती है। किसानों को इससे फायदा होता है।

यह योजना किसानों के लिए लाभकारी है

इस योजना के माध्यम से, किसानों की आय दोगुनी की जा सकती है, क्योंकि किसान खेत मशीनरी बैंक स्थापित करके खरीदे गए कृषि उपकरण किराए पर देकर दोहरा लाभ कमा सकते हैं। इन उपकरणों की मदद से किसान वैज्ञानिक खेती भी कर सकते हैं। वे फसल की पैदावार भी बढ़ाते हैं।

Leave a Comment