अब किसानो को पराली जलाने की जरूरत नहीं, 2 ट्राली पराली पर मिलेगी 1 ट्राली गोबर की खाद निःशुल्क

अब किसानो को पराली जलाने की जरूरत नहीं, 2 ट्राली पराली पर मिलेगी 1 ट्राली गोबर की खाद निःशुल्क 

UP Agriculture Status – किसानों द्वारा पराली जलाना एक गंभीर समस्या है, जिसके राष्ट्रीय स्तर पर जल्द ही दूर होने की उम्मीद है। वास्तव में, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से एक महत्वपूर्ण पहल की गई है। यह पहल राष्ट्रीय स्तर पर एक मिसाल कायम कर सकती है। बता दें कि यूपी के 2 जिलों में प्रशासन ने किसानों से लगभग 5,000 क्विंटल भूसा लिया है। यदि किसान जिला प्रशासन को पराली की 2 ट्रॉली दे रहे हैं, तो बदले में वे उन्हें 1 ट्रॉली गोबर खाद मुफ्त में दे रहे हैं। यह पहल बहुत खास मानी जा रही है, जिससे भूसे की समस्या खत्म हो सकती है।
UP Agriculture Status
UP Agriculture Status
हाल ही में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया कि प्रिय किसान भाइयों, आपका प्रकृति और पर्यावरण के साथ अभिन्न संबंध है। पुआल जलाना पर्यावरण और हम सभी के लिए बहुत हानिकारक है। आप ब्रेडविनर हैं, आपका काम जीवन का समर्थन करना है। आइए, पराली को न जलाने और पर्यावरण के अनुकूल साधनों के माध्यम से इसका उपयोग करने का संकल्प लें। 


एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा था, “जलती हुई फसल से संबंधित कार्यवाही में किसान भाइयों के खिलाफ कोई दुर्व्यवहार / उत्पीड़न स्वीकार नहीं किया जाएगा।” इस ट्वीट के बाद भूसा नहीं जलने का असर दिखने लगा है। बता दें कि यूपी के कानपुर देहात और उन्नाव में 1675 क्विंटल से अधिक 3,000 क्विंटल भूसा किसानों से लिया गया है। इसके लिए ग्रामीण स्तर पर किसानों को जागरूक भी किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि कानपुर देहात में लगभग 125 गौशालाएँ हैं और पर्याप्त मात्रा में गोबर की खाद भी उपलब्ध है। किसानों द्वारा पराली की 2 ट्रॉली देने पर 1 ट्रॉली गोबर खाद नि: शुल्क दी जा रही है।


सरकार 50 से 80 प्रतिशत अनुदान भी दे रही है

जानकारी के लिए बता दें कि सुप्रीम कोर्ट और NGT (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) ने पुआल को जलाने को दंडनीय अपराध घोषित किया है। ऐसी स्थिति में, मुख्यमंत्री किसानों के बारे में बहुत संवेदनशील हैं, इसलिए किसानों को ऐसे कृषि उपकरणों पर अनुदान दिया जा रहा है, जिससे भूसे का निपटान आसानी से किया जा सके। इन पर सरकार द्वारा 50 से 80 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है।

Leave a Comment