गेहूं के बीज खरीद पर मिलेगी 90 प्रतिशत तक सब्सिडी, जाने आवेदन करने की प्रक्रिया | Gehu Beej Subsidy

 गेहूं के बीज खरीद पर मिलेगी 90 प्रतिशत तक सब्सिडी, जाने आवेदन करने की प्रक्रिया | Gehu Beej Subsidy

Gehu Beej Subsidy – देश भर में किसान रबी फसल लगा रहे हैं, इसलिए हर राज्य में कृषि विभाग सब्सिडी के साथ किसानों को गेहूं के बीज उपलब्ध करा रहे हैं। इस श्रृंखला में, उत्तर प्रदेश में बस्ती जिला कृषि विभाग की ओर से गेहूं उगाने वाले किसानों को 90 प्रतिशत तक बीज वितरित किए जाते हैं। कृषि विभाग का कहना है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश हरित क्रांति कार्यक्रम और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत किसानों को 90 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। बता दें कि इस योजना के तहत बीजों पर 50 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाता है।
Gehu Beej Subsidy
Gehu Beej Subsidy
रबी सीजन के दौरान, किसान गेहूं, जौ, मटर, छोले, रेपसीड, सरसों और मसूर को प्रमुखता से उगाते हैं। आज, किसानों ने चावल उगाना शुरू कर दिया है और रबी सीजन की फसल लगाने की तैयारी कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में, बीज ब्लॉकों में स्थित गोदामों में भेजे जाते हैं। यह ज्ञात है कि इस वर्ष गेहूं को कुछ 120,862 हेक्टेयर भूमि पर उगाया जाएगा। इसके अलावा, यह अनुमान है कि 48 हेक्टेयर के क्षेत्र में 5780 मटर, 717 ग्राम, लाही, 2865, दाल, 2778, सरसों और जौ उगाए जाते हैं। गेहूं का क्षेत्रफल पिछले साल के 120 136 हेक्टेयर से 626 हेक्टेयर अधिक है।

बीज सब्सिडी लेने की प्रक्रिया (Seed subsidy process)

बीज खरीदने के बाद, किसानों को वेयरहाउस फॉर्म को पूरा करना होगा। रसीद रजिस्ट्री सहायक को उपलब्ध कराएं, क्योंकि सब्सिडी न होने की स्थिति में, यह रसीद बहुत उपयोगी होगी।


 


 

बीज सब्सिडी लेने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ (Documents required to collect seed subsidy)

कृषि विभाग के अनुसार, बीज डिपो जाने वाले किसानों को आधार कार्ड, बैंक की किताब की फोटोकॉपी और खतौनी ले जानी चाहिए।

Leave a Comment