किसानो को कृषि मशीनरी पर मिल रही है 80 प्रतिशत सब्सिडी, जाने आवेदन की प्रक्रिया | Kisan Machinery Subsidy In Hindi

किसानो को कृषि मशीनरी पर मिल रही है 80 प्रतिशत सब्सिडी, जाने आवेदन की प्रक्रिया | Kisan Machinery Subsidy In Hindi

Kisan Machine Subsidy – आज किसानो के पास आधुनिक कृषि उपकरण होना बहुत जरुरी है। आधुनिक उपकरणों के माध्यम से किसान की लगने वाली मेहनत को कम किया जा सकता है इसके साथ ही अधिक उतपादन भी किया जा सकता है। आज भी हमारे देश में कई ऐसे किसान है जो आर्थिक रूप से गरीब है और अधिक महंगे और आधुनिक उपकरण खरीद नहीं पाते है। इन्ही कारण से केंद्र व राज्य सरकार किसानो के लिए समय – समय पर सरकारी योजनाए (Government schemes) लेकर आती है। 
Kisan Machinery Subsidy In Hindi
Kisan Machinery Subsidy In Hindi
इन सरकारी योजनाओ का फायदा छोटे किसान उठा सकते है या वे किसान जो आर्थिक रूप से गरीब है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, किसानो को पराली नहीं जलाने के उद्देश्य से, पंजाब  सरकार द्वारा पराली को संभालने वाली कृषि मशीनों पर सब्सिडी मुहैया करा रही है। सरकार द्वारा सहकारी सभाओं, रजिस्टर्ड किसान ग्रुपों, ग्राम पंचायतों, किसानों की रजिस्टर्ड समितियों, सूत्रधार खादुसर संसाधनों को 80% और निजी किसानों को 50% दी जाएगी।

इन कृषि उपकरणों पर किसानों को अनुदान मिलेगा (Farmers will get grant on these agricultural implements)



 
किसान द्वारा जलाये जा रहे पराली को रोकने के लिए सरकार ने, पराली को जमीन में ही मिलाने वाली सहायक मशीनों पर सब्सिडी मुहैया कराइ जा रही है जैसे मलचर, हाईड्रोलिक रिवरसीबल एमबी प्लो, जीरो टिल ड्रिल, सुपर सीडर, सुपर एसएमएस, हैप्पी सीडर, पैडी स्ट्रा चौपर, शरैडर, बेलर, रेक, क्राप रीपर आदि शामिल हैं।

कृषि उपकरण के लिए कैसे करें आवेदन (How to apply for agricultural equipment)

अगर आप ऊपर दिए गए उपकरणों पर सब्सिडी लेना चाहते है तो आप Common Service Center जिसक लिंक https://register.csc.gov.in/है पर जाकर आवेदन  कर सकते है या इसके अलावा फतेहगढ़ साहिब में स्थित कृषि विभाग से संपर्क कर सकते हैं। 

किसान ग्रुपों को 80% और किसानों को 50% मशीनरी पर मिला अनुदान


कृषि और किसान भलाई विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा प्रतिदिन कृषि मशीनों की वेरीफिकेशन की जा रही है, ताकि सब्सिडी को किसानों के खाते में जल्द से जल्द भेजा जा सके. फतेहगढ़ साहिब जिले में निजी किसानों ने कुल 162 सुपर सीडर, दो हैप्पी सीडर, 13 मलचर, 14 हाईड्रोलिक रिवरसीबल एमबी प्लो, 97 सुपर एसएमएस खरीदे हैं, जिन्हें 50 फीसद सब्सिडी, 37 Custom hiring centers और दो ग्राम पंचायतों को 80 फीसद सब्सिडी दी जाएगी। 
हम सभी किसान भाईओ तक  योजनाओ की अपडेट सबसे पहले लेकर आते है इसलिए आप TopBharat पर जुड़े रहे या हमसे सोशल मिडिया पर जुड़े। 

Leave a Comment